Sunil Kothari Awarded with Jaipur Shree Award at 17th Varshik Utsav 2024

Sunil Kothari Awarded with Jaipur Shree Award at 17th Varshik Utsav 2024

Sunil Kothari, a renowned philanthropist and businessman, was recently honored with the Jaipur Shree Award at the 17th Varshik Utsav held by the Jaipur Pravasi Sangh in Mumbai. This award recognizes his unwavering dedication to enhancing the socio-economic and cultural relations between India and Thailand. Over the years, Mr. Kothari has initiated various philanthropic activities that have significantly impacted both communities, promoting cultural exchange and mutual understanding. His initiatives range from disaster relief efforts to supporting cultural and educational programs, demonstrating his commitment to fostering a better society.

Sunil Kothari Receives Prestigious Recognition for His Philanthropic Efforts
Sunil Kothari Receives Prestigious Recognition for His Philanthropic Efforts

सुनील कोठारी एक प्रतिष्ठित व्यवसायी और समाजसेवी हैं, जिन्होंने भारत और थाईलैंड दोनों समुदायों के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वे 1983 से थाईलैंड में भारतीय समुदाय के एक स्तंभ रहे हैं और दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए अनेकों प्रयास किए हैं।

कोठारी का जन्म 9 नवंबर, 1962 को जयपुर, राजस्थान में हुआ था। उन्होंने अपनी शिक्षा भी जयपुर से ही पूरी की है।
सुनील कोठारी 1985 में थाईलैंड में स्थापित फ्लॉलेस कंपनी लिमिटेड के अध्यक्ष हैं।

आप सामाजिक परिवर्तन और भारतीय संस्कृति और मूल्यों के संरक्षण के लिए कार्यरत हैं। आपने भारत-थाई चैंबर ऑफ कॉमर्स, थाई जेम्स एंड ज्वेलरी ट्रेडर्स एसोसिएशन, विश्व हिंदू परिषद-थाईलैंड और एकल विद्यालय फाउंडेशन थाईलैंड सहित कई संगठनों में सक्रिय भूमिका निभाई है।

उनके प्रयासों ने भारत और थाईलैंड के बीच की दूरी को कम करने और मजबूत सामाजिक-आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों को बढ़ावा देने में मदद की है। उन्हें उनके काम के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।

सुनील कोठारी की पहलों में शामिल हैं:

  • प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित लोगों को सहायता प्रदान करना
  • धार्मिक गतिविधियों का समर्थन करना
  • विश्व हिंदू सम्मेलन (WHC 2023) में योगदान
  • यूएन द्वारा 2023 को अंतर्राष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष घोषित किया गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्र स्तर पर चल रहे ‘मोटा अनाज – श्री अन्न’ जागरूकता अभियान में सहयोग के तहत, अक्टूबर 7, 2023 के दिन थाईलैंड में मिलेट्स पर ‘मिलेट्स एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट’ कार्यक्रम आयोजित कर थाई लोगों के बीच मोटा धान पर जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया।
  • अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस समारोह के मौके पर थाईलैंड में महिला सशक्तिकरण के लिए सिर्फ समर्थन ही नहीं, बल्कि एक मंच भी प्रदान किया है
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस की थाईलैंड यात्रा की 80वीं वर्षगांठ पर कार्यक्रम आयोजित करना
  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत से ही इसमें निरंतर भागीदारी और योगदान
  • सांस्कृतिक उत्सवों का समर्थन करना
  • BAPS स्वामी नारायण संस्था द्वारा मंदिर निर्माण में योगदान
  • थाईलैंड में जैन मंदिर निर्माण के लिए योगदान
  • शांति भूमि श्मशान स्थल जैसी परियोजनाओं में योगदान
  • बाल तस्करी एवं पाक्सो जैसे बाल अपराध तथा बच्चों के प्रति लगातार बढ़ रही हिंसा को लेकर ‘जागो बच्चों जागो’ के नाम से राज्य स्तर पर चल रहे जागरूकता कार्यक्रम का सादर सहयोग, स्कूलों में बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता अभियान – सुनील कोठारी अपने गृह राज्य राजस्थान, भारत में बाल कल्याण पहल का भी समर्थन करते हैं। वे “जागो बच्चों जागो” अभियान के माध्यम से बच्चों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

उनकी विरासत आगे आने वाली पीढ़ियों को पुनः संस्कारित करने के लिए प्रेरित करती रहेगी, जो समाज को बेहतर बनाने के लिए प्रयास करने वाले हर व्यक्ति के लिए आशा की किरण और प्रेरणा स्रोत बनेगी।

Post Comment